pm bal seva yojana 2024: जाने इस योजना की ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन जाने आवेदन करने की प्रक्रिया

PM Bal Seva Yojana 2024: हेल्लो दोस्तों आज के हमारे इस नए आर्टिकल में आपका स्वागत है आज मै आपको बताने वाला हु की करोनावायरस के संक्रमण के कारण हमारे देश में बहुत सारे चुनौतियों का सामना करना पड रहा है इसी को ध्यान में रखकर हमारे प्रधानमंत्री जी ने उन सभी के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा लगभग सभी बच्चे जिनके माता-पिता की मृत्यु हो गई है उन सभी बच्चों की पहचान की गई और जिनके माता-पिता में से किसी एक की मृत्यु हो गई है ऐसे भी बच्चों के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना को आरंभ किया गया है.

Telegram Group Join Now

इस योजना के माध्यम से इन सभी बच्चों का आर्थिक सहायता के साथ-साथ अन्य सुविधा प्रदान की जाएंगी.मै आपको बता दू की इस योजना के तहत बच्चों को पालन पोषण करने के लिए या फिर बच्चों की अभिभावक को 4000 रुपये तक की आर्थिक करने का एलान किया है .

PM Bal Seva Yojana 2024 का मुख्य उद्देश्य

मै आपलोगों को बता देना चाहता हु की इस बाल सेवा योजना का मुख्य उद्देश्य सभी बच्चे जिनकी आर्थिक सहायता कमजोर है और जो कोरोनावायरस के संक्रमण के कारण जो अनाथ हो गया इन सभी बच्चों को इस योजना के माध्यम से आर्थिक सहायता की जाएगी जिससे कि वह अपना भरण पोषण अच्छे से हो पाये और मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत बच्चों को दूसरे पर निर्भर डालने की आवश्यकता न पड़े. और वे सब अनाथ बच्चे अपना पालन पोसन अच्छे से कर सके.

मै आपलोगों को बता दू की Mukhymantri Bal Seva Yojana इस योजना के अंतर्गत बच्चों की पालन पोषण के लिए बच्चों को या फिर उसके अभिभावक 4000 रुपये तक की आर्थिक सहायता मिलेगी. इसके अलावा इस समय के माध्यम से लड़कियों की शादी के लिए आर्थिक सहायता करी जाएगी. यदि बच्चे की आयु 10 वर्ष से कम और उनका कोई अभिभावक नहीं है तो उनको राजकीय बल ग्रेही आवासीय सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी.और मै बता दू की इसमे लड़कियों को भी अलग से आवास की सुविधा भी प्रदान की जाएगी.

योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्रता

  • बच्चा या बच्ची उत्तर प्रदेश राज्य का स्थान निवासी होना चाहिए।
  • वह बच्चे जिन्होंने कोविड 19 के दौरान अपने दोनों माता-पिता को खो दिए हैं।
  • अपने लीगल गार्जियन को कोरोनावायरस संक्रमण के कारण खोने वाले बच्चे इस योजना के अंतर्गत पात्र हैं।
  • वह बच्चा जिस दिन के माता-पिता में से कोई एक ही जीवित हो और उनकी मृत्यु कोरोनावायरस संक्रमण से हो गई ।
  • बच्चों की आयु 18 वर्ष या फिर 18 वर्ष से कम होनी चाहिए।
  • एक परिवार के सभी बच्चे जैविक एवं कानूनी रूप से गोद लिए गए इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • वर्तमान में जीवित माता या पिता की आय 2 लाख से कम होनी चाहिए।

आवश्यक दस्तावेज

  • निवास प्रमाण पत्र
  • बच्चों की आयु प्रमाण पत्र
  • 2019 से मृत्यु का साक्ष्य
  • बच्चों में अभिभावक की न्यूनतम फोटो सहित पूर्व आवेदन
  • माता-पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र (अगर माता-पिता दोनों की मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में आय प्रमाण पत्र जमा करना अनिवार्य नहीं है।)
  • शिक्षण संस्थान में रजिस्ट्रेशन का प्रमाण पत्र
  • माता-पिता या वेज संरक्षक का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • बाल एवं अधिक आयु प्रमाण पत्र

आवेदन करने की प्रक्रिया

  • अगर आप ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं तो आपको ग्राम विकास पंचायत पदाधिकारी या विकासखंड या जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय में जाना होगा |
  • आप शहर में रहते हैं तो आपको लेखपाल तहसील या जिला प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय में जाना है।
  • इसके बाद कार्यालय से इस योजना के अंतर्गत आवेदन पत्र को प्राप्त करना होगा।
  • आपके कार्यालय से इस योजना का आवेदन पत्र प्राप्त करना है और इस आवेदन पत्र पूछे गए सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका नाम मोबाइल नंबर ईमेल आईडी सभी जानकारी को दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करना होगा।
  • अब आपका आवेदन पत्र को कार्यालय में जाकर जमा कर देना।
  • इस प्रकार से आप उप मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।
  • जिला बाल संरक्षण इकाई एवं बाल कल्याण समिति के द्वारा पत्र बच्चों को चिन्हित करने के बाद 15 दिन के अंदर आवेदन की प्रक्रिया को पूरी की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत माता-पिता की मृत्यु वर्ष के 2 वर्ष के भीतर आवेदन किया जा सकता है।
  • अप्रूवल प्राप्त हो जाने की स्थिति से ही इस योजना का लाभ प्राप्त होना शुरू हो जाएगा।

इसे भी पढ़े :-Kanya Sumangala Yojana: अप्रैल से कन्या सुमंगला योजना में मिलेंगे 25 हजार रुपये, जाने नए नियम

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment