Ayodhya Ram Mandir को लेकर विदेशो में भी  काफी उत्साह है,और टाइम्स स्क्वायर पर होगा प्राण-प्रतिष्ठा का सीधा प्रसारण !

Ayodhya Ram Mandir : हेलों दोस्तों आज के हमारे इस नए आर्टिकल में आपका स्वागत है ,जैसा कि मै आप लोगो को बता देना चाहता हु कि आयोध्या राम मंदिर को लेकर अपने देश में नहीं बल्कि देश विदेशो में ! राम मंदिर की 22 जनवरी को लेकर काफी उत्शुकः है जिसमे अयोध्या में राम मंदिर का प्राण प्रतिष्ठान होगा। जो की रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 84 सेकंड का शुभ मुहूर्त निकाला गया है। ये समय 22 जनवरी 2024 को 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक होगा।

Telegram Group Join Now

एक रिपोर्ट के मुताबिक बताया जा रहा है। इसकी ऑनलाइन प्राण प्रतिस्ठा अपने देश नहीं बल्कि विदेशो में दिखाया जयेगा और इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी अपने राम भक्तो को सम्बोधित करेंगे। और इनकी सुरक्षा व्यवस्था और समारो की तैयारी की काफी बारीकी से देखि जाएगी। और cctv से सभी पर नजर रखी जाएगी और यहाँ पर काफी भीड़ भी होगी। जिससे राम भक्तो पर थोड़ा सा मुश्किल होगा घूमने के लिए। हालाँकि मोदी जी ने उन अनुष्ठानों और नियमों के बारे में भी विस्तृत जानकारी मांगी है जिनका उन्हें पालन करना आवश्यक है।

Ayodhya Ram Mandir में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का समय

Ayodhya Ram Mandir में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के लिए 84 सेकंड का शुभ मुहूर्त निकाला गया है। और यह समय 22 जनवरी 2024 को 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक होगा। हम आपको बता दे की अयोध्या में राम अमंदिर की लम्बाई “पूर्व से पश्चिम” 380 फीट होगी और चौड़ाई 250 फ़ीट उचाई 161 फ़ीट होगी। और प्रत्येक मंजिल 20 फ़ीट का होगा और सभी मंजिले पर कमरे होगी जिससे सभी के ऊपर नजर रखी जाएगी। इसमें कुल 392 खंभे और 44 दरवाजे होंगे।

Ayodhya Ram Mandir में महिला कारसेवक बिंदु की कहानी

अयोध्या राम मंदिर में महिला कारसेवक बिंदु ने अपने दुःख भरी कहानी बताई , कारसेवक महिला बिंदु ने कहा जब में अपने 20 दिन के बेटो को दाई के हाथो में पकड़ाकर दौड़ी थी। और मेरे ही सामने विवादित ढांचा को ढहा दिया गया और मेरी आँखें भर आई थी, मेने 6 दिसंबर के पूरी दिन पानी नहीं पी थी , और में लौटते समय विवादित टूटी हुवे ढांचे का एक टुकड़ा साथ में लेकर आई। विवादित टूटी हुवे ढांचे के टुकड़े को देखर ऐसा लग रहा था की में कोइए मेडल लेकर आ रही हु और मेरी आखे भर आई थी उस दिन।

फरवरी 1989 में जब में सुल्तान पुर से अयोध्या आई तब Ayodhya Ram Mandir में शीला पूजन चल रहा था। फिर 90 में कारसेवको पर गोलिया बरसाई गई और काफी लोग की मृत्यु हो गई और जन्म भूमि शील थी और हम सभी माहिला अयोध्या की गलियों में छिप रहे थे और हम पुराने मानस भवन में रहते थे। आज उसी जगह मंदिर बन रहा है।

और मै आपको बता दू कि 6 दिसंबर की बात है की पूरा मानस कारसेवको और मीडियावालो से भरा था और भीड़ को रोकना मुश्किल था, और सभी ढांचे की तरफ जा रहे थे , मैंने अपने बेटे को एक दाई को दे दिया था और मैंने बोली की थोड़ी देर में आती हूँ।
यह कहानी बताते ही बिंदु दीदी एकदम से ठंडी पड़ गए और उनकी आँखों में आशु एक झलक दिखी फिर अपने आप को काबू किया और स्क्रीन पर चल रहे राम जी की भजन को देखने लगी और जय श्री राम कहने लगी। और शभी लोग भी कहने लगे।

Ayodhya Ram Mandir में रामलला की मूर्ति किसने बनाई

अयोध्या राम मंदिर और जगह एक प्रेम की जगह है जिसमे लोग अपनी इच्छा नुसार आते है और अपनी कामना पूरी करने के लिए राम जी से मन्नत मांगते है। अयोध्या राम मंदिर में राम जी की मूर्ति को प्रशिद्ध मूर्तिकार अरुण योगीराज ने बनाया है। मूर्तिकार और कलाकार के रूप में प्रशिद्ध है। और यह मूर्ति 5 साल से बालस्वरूप में है। और गर्भग्रह में प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी।इसी तरह की मजेदार खबरों के लिए हमें thetazanews.com पर फालो करे | 

इसे भी पढ़े :-Mla Mevaram Viral Video:कॉन्ग्रेस नेता मेवाराम की 2 वीडियो हुई वायरल देखे वीडियो !

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment